Header Ads

HIV और AIDS: अर्थ , कारण, लक्षण और उपचार

HIV-In-Hindi

HIV क्या होता है?

HIV एक तरह का वायरस है जो हमारे इम्यून सिस्टम की कोशिकाओं(CELLS) पर हमला करता है। इम्यून सिस्टम हमारे शरीर को किसी भी बिमारी वाले वायरस से संक्रमित होने से बचता है। 

जो व्यक्ति HIV होने के बाद अपना इलाज नहीं करवाते है वह अपना CD4 कोशिका खुद मरने के जिमेवार होते है। CD4 कोशिका एक तरह का इम्यून सेल्स होता है जिसे T कोशिका भी कहा जाता है। 

जैसे-जैसे समय बीतता है वैसे-वैसे HIV वायरस और ज्यादा CD4 कोशिका को मरता है, जिस वजह से हमारा शरीर अधिक कमजोर हो जाता है और हम अधिक संक्रमण वाले बीमारी जैसे की कैंसर के चपेट में आ सकते है।

HIV हमारे शरीर से निकले पानी जैसी फ्लूइड से फैलता है उद्धरण स्वरुप:

  • महिलाओ के स्तन का दूध
  •  योनि और मलाशय तरल पदार्थ
  • रक्त 
  • वीर्य
HIV जैसे वायरस पानी, हवा या संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से नहीं फैलता है। 

अगर इसका इलाज नहीं करवाया जाता है तो HIV रोग AIDS जैसी बीमारी को जन्म दे सकता है। आपको बता दे की हमारा शरीर HIV से निजात नहीं पा सकता है और इसका कोई भी इलाज अभी तक मौजूद नहीं है। 

तथापि, HIV चिकित्सा देखभाल (एंटीरेट्रोवाइरल थेरेपी) करवाने से आप उतना दिन जिन्दा रह सकते है जितना की एक आदमी रह सकता है जिसे कभी HIV नहीं हुआ है। लेकिन AIDS बीमारी विकसित होने के बाद लगभग 3 साल तक एक व्यक्ति जिन्दा रह सकता है। 

लेकिन बिना इलाज के, एक व्यक्ति जिसे HIV है उसमे AIDS बीमारी विकसित होने की बहुत अधिक संभावना है। 
 

HIV से जुड़ी तथ्य (HIV FACTS IN HINDI)

  • HIV बन्दर या वानर से इन्शानो में फैला है। 
  • HIV होने के बाबजूद भी आप बीमार महसूस नहीं करेंगे। 
  • ज्यादातर लोगो को पता ही नहीं है की वह HIV संक्रमित है। 
  • किसी को भी HIV हो सकता है। 
  • यह सिर्फ पुरुष की बीमारी नहीं है। 
  • हमारे सोच से भी ज्यादा एचआईवी जटिल है। 

AIDS क्या होता है?

AIDS एक तरह का बीमारी है जो HIV संक्रमित व्यक्ति में पनपता है। इसका मतलब यह नहीं है की HIV संक्रमित व्यक्ति को AIDS से झूझना ही पड़ेगा। 

HIV का सबसे उन्नत(ऊपर) वाले स्टेज को AIDS कहते है। 

जैसा की हम लोग पहले ही बात कर चुके है की HIV वायरस CD4 कोशिकाओं को ख़तम कर देता है। एक स्वस्थ व्यक्ति में आमतौर पर 500 से 1500 प्रति घन मिलीमीटर की CD4 कोशिकाओं की गणना(COUNT) होती है। 

वही एक व्यक्ति जिसकी 200 प्रति घन मिलीमीटर की CD4 कोशिकाओं की गणना(COUNT) से कम होती है उसका  AIDS का इलाज किया जाता है। 

अनुपचारित, HIV संक्रमित व्यक्ति में AIDS विकसित हो जाता है। हलाकि, एंटीरेट्रोवाइरल दवाएं एड्स को विकसित होने से रोक सकती हैं।

अगर AIDS विकसित हो जाता है इसका मतलब है की इम्यून सिस्टम पूरी तरह से कमजोर हो गया है। किसी भी तरह का रोग शरीर को बुरी तरह से नुकशान पहुंचा सकता है। रोग प्रतिरोधक क्षमता शरीर को सभी तरह के वायरस से शरीर की रक्षा करती है। 

मुझे कैसे पता चलेगा कि मुझे एचआईवी है?

एचआईवी का जांच करवाने के बाद ही आप सुनिश्चित कर पाएंगे की आप संक्रमित है या नहीं। किसी व्यक्ति के तौर तरीके को देखकर आप यह अंदाजा नहीं लगा सकते हैं कि वह व्यक्ति संक्रमित है या नहीं। या फिर  जांच कराना काफी आसान है। मेडिकल क्लिनिक, हेल्थ सेंटर या हॉस्पिटल में जाकर आप एचआईवी का टेस्ट करवा सकते हैं। आप होम टेस्टिंग किट ऑनलाइन या दवाई की दुकान से खरीद कर खुद जांच कर सकते हैं।

एचआईवी और एड्स में क्या संबंध है?

एड्स विकसित उन लोगों में ही हो सकता है जो कि एचआईवी के संपर्क में आए हैं। लेकिन एचआईवी का मतलब यह बिल्कुल नहीं है कि आप में एड्स विकसित हो जाएगा।


HIV कैसे फैलता है?
केवल आप एचआईवी संक्रमित व्यक्ति के शरीर के कुछ तरल पदार्थों के संपर्क में आने से ही संक्रमित हो पाएंगे।


















No comments

Powered by Blogger.